Social:

Sunday, January 31, 2021

बसंत आने का लक्षण है ? .......

पात-पात फुदकन 

गात-गात मुदकन 


हर शोक का हरण है

बसंत आने का लक्षण है ?


बिखरी-बिखरी कस्तूरी

निखरी-निखरी अंकूरी


रस-रूप का उपकरण है

बसंत आने का लक्षण है ?


देहरी-देहरी सिंदुरी

रेहरी-रेहरी अबीरी


उल्लास का उच्चरण है

बसंत आने का लक्षण है ? 


सिकुड़ी-सकुड़ी साँसें

उखड़ी-उखड़ी टाँसें


बड़ा मीठा-सा मरण है

बसंत आने का लक्षण है ?


अंग-अंग गदरीला

संग-संग सुरभीला


बावले युगलकों का वरण है

बसंत आने का लक्षण है ?


ताल-ताल थिरकन

चाल-चाल बहकन


विगत का विस्मरण है

बसंत आने का लक्षण है ?


राग-राग मल्हार

फाग-फाग विहार


पुलक का प्रस्फुरण है

बसंत आने का लक्षण है ? 

23 comments:

  1. देहरी-देहरी सिंदुरी
    रेहरी-रेहरी अबीरी
    उल्लास का उच्चरण है
    बसंत आने का लक्षण है ?
    - बहुत ही सुंदर। आपकी रसीली पंक्तियाँ खुद में जैसे बसंत का अनुभव ले आई हैं । शारदोत्सव की अग्रिम शुभकामनायें। ।।।

    ReplyDelete
  2. आपकी लिखी रचना "सांध्य दैनिक मुखरित मौन  में" आज रविवार 31 जनवरी 2021 को साझा की गई है.........  "सांध्य दैनिक मुखरित मौन में" पर आप भी आइएगा....धन्यवाद!

    ReplyDelete

  3. कौन देता है फूंक,
    किंशुक किंकिणियों में जान
    कौन पुरइन के पत्ते को
    देता है रंगीले परिधान

    वीथियाँ पुष्पों के शरण है
    बसन्त के आने का ही लक्षण है ।

    ReplyDelete
  4. अति सुंदर...मनमोहक सृजन प्रिय अमृता जी।
    -----
    शब्द-शब्द शृंगार
    मन भींजे मधुधार,
    हिय का यह स्फुरण
    बसंत आने का लक्षण है।
    ----
    सादर।

    ReplyDelete
  5. नमस्ते,
    आपकी इस प्रविष्टि के लिंक की चर्चा सोमवार 01 फ़रवरी 2021 को 'अब बसन्त आएगा' (चर्चा अंक 3964) पर भी होगी।--
    चर्चा मंच पर पूरी पोस्ट नहीं दी जाती है बल्कि आपकी पोस्ट का लिंक या लिंक के साथ पोस्ट का महत्त्वपूर्ण अंश दिया जाता है।
    जिससे कि पाठक उत्सुकता के साथ आपके ब्लॉग पर आपकी पूरी पोस्ट पढ़ने के लिए जाए।
    --
    हार्दिक शुभकामनाओं के साथ।

    #रवीन्द्र_सिंह_यादव


    ReplyDelete
  6. बहुत सुंदर गीत...
    मन खुश हो गया मेरा..

    ReplyDelete
  7. राग-राग मल्हार

    फाग-फाग विहार



    अति सुंदर मनमोहक।
    कविता की समाप्ति पर लगा प्रश्नचिन्ह निश्चय ही मंथन को विवश करता है।
    पुलक का प्रस्फुरण है

    बसंत आने का लक्षण है ?
    अशेष शुभकामनाएं अमृता जी। सादर।

    ReplyDelete
  8. हर शब्द बासंती गीत गाता हुआ..
    मन को हर्षाता हुआ..
    Sundar मनोहारी अभिव्यक्ति

    ReplyDelete
  9. वाह ! वसंत न भी आने वाला हो तो आपकी पुकार सुनकर आ ही जाएगा

    ReplyDelete
  10. वाह!निशब्द हो जाती हूँ आपके सृजन पर।
    झरने से बहता..बहुत ही सुंदर।
    सादर

    ReplyDelete
  11. आते हुए बसंत की महक और चहक दोनों ही आपकी रचना से बासंती उन्माद लिए छलक रहा है।
    सुंदर, मधुर, मंजुल।

    ReplyDelete
  12. पात-पात फुदकन
    गात-गात मुदकन

    हर शोक का हरण है
    बसंत आने का लक्षण है ?

    वसंत आगमन के लक्षणों को बताती सुंदर रचना 🌹🙏🌹

    ReplyDelete
  13. छोटे मीटर का गीत कल्पनाओं को अधिक जागृत करता है. और सवालिया निशान उन्हें विस्तारित कर देता है.

    विगत का विस्मरण है
    बसंत आने का लक्षण है ?

    बहुत सुंदर.

    ReplyDelete
  14. बहुत ही सुंदर सृजन।

    ReplyDelete
  15. वाह! शब्दों की अद्भुत मिठास!

    ReplyDelete
  16. वसंतोत्सव के रंगों से सजी मनमोहक अभिव्यक्ति । अद्भुत... अप्रतिम.. अति सुन्दर ।

    ReplyDelete