Pages

Wednesday, October 20, 2010

वितंडा

एक कोशिश या
हठधर्मिता
या फिर
बलात सम्प्रेषण
अभिव्यक्ति के अधिकार
के तहत
कविता से संवाद
या फिर
स्वयं के मानसिक
विलासिता के लिए
शब्द निर्मित अत्याधुनिक
भोग विलास के साधन
एक वितंडा
स्वयं में ही
मैं हूँ संसार में
सबसे अमीर .

3 comments:

  1. अमृता जी,

    निसंदेह...... जिसने चैतन्य के गूढ़ रहस्यों को जान लिया...वह इस जगत में सबसे अमीर है......आपके हिंदी ज्ञान के आगे मैं नतमस्तक हूँ........इसके पीछे आपकी उच्च शिक्षा का ही हाथ हो सकता है......जो अभी मेरे पास नहीं है......इसलिए एक प्रश्न है.....

    'वितंडा' का क्या अर्थ है?

    और हाँ अमृता जी.........ये टिप्पणीयो में से वर्ड वेरिफिकेशन ज़रूर हटा दें......शुभकामनाये|

    ReplyDelete
  2. doosron ki jai se pahle khud ko jai kare

    ReplyDelete